किशोरियों के उड़ान भरते सपने

anita blog 1

“इस दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं,

मैं जो भी सोच लूं, वो सब कुछ कर सकती हूँ,

और मैं वो बातें भी सोच सकती हूँ, जो आज तक नहीं सोचीं

27 और 28 नवंबर, 2018 को उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले की महरौनी तहसील में  जोरदार उत्साह और मस्ती के साथ सहजनी शिक्षा केंद्र ने लगभग 260 किशोरियों के साथ किशोरी सम्मेलन का आयोजन किया.  इस सम्मेलन के दौरान होने वाले अलग अलग सत्रों की योजना रचनात्मक रूप से बनायी गई थी. इन्हीं में से एक सत्र में किशोरियों को अपने सपने बयान करने थे, इसके लिए वे कोई भी तरीका अपना सकतीं थीं.

anita blog 2

सभी किशोरियों ने बहुत ही उत्साह से अपने सपनों को सबके सामने प्रस्तुत किया. किसी ने चित्रों का इस्तेमाल किया तो किसी ने अपने अनकहे सपनों को कार्ड पर लिखा. किशोरियां जब इन्हें लिख रहीं थीं तो उनके चेहरे की जो ख़ुशी थी, उसे देखकर लगता था कि मानो उनके सपने उसी पल सच हो जायेंगे. किशोरियों ने अपने जो सपने हमें बताये उनमे से कुछ थे:

  • मेरा सपना है कि मेरा खुद का एक घर हो. घर, खेत और जानवर हमेशा क्यों पापा-भाई और चाचा के नाम होता है? अगर हमारे नाम से भी ये सब हो तो लड़कियों का महत्व बढ़ जायेगा और लोग इज्जत भी करेंगे.
  • आज पहली बार2 दिन के लिए अकेले घर से बाहर निकलने का मौका मिला तो बहुत ख़ुशी हो रही है ऐसे ही मैं कहीं भी अकेले घूमना चाहती हूँ.
  • मैंपुलिस में भर्ती होना चाहती हूँ ताकि अपनी  जाति (आदिवासी और दलित) से छुआछूत ख़त्म कर सकूं.
  • मैं8वी कक्षा में पढ़तीं हूँ, आगे भी पढ़ना चाहती हूँ और टीचर बनना चाहतीं हूँ.
  • मैं साइकिल चलाना चाहती हूँ.
  • मैं दिल्ली जाकर नौकरी करना चाहती हूँ.
  • मैं अपनी खुद की दुकान खोलना चाहती हूँ.
  • मैं आगे पढ़ना चाहती हूँ और डाक्टर बनना चाहती हूँ.

कुछ किशोरियां अपने सपनों को बताते हुए भावुक हो रहीं थी तो उन्हीं में से कुछ ऐसी भी थीं जिनकी आँखों में चमक थी, और सपनों को पूरा करने की ललक भी. ये सच है कि अपने इन सपनों तक पहुचने के लिए किशोरियों को लगातार संघर्ष करना होगा और उसके बाद भी ये पूरे हो पाएंगे, इसकी कोई गारंटी नहीं. मगर फिलहाल, ये चिंता छोड़ वे इन पलों में खुश हैं, किशोरी सम्मेलन के इन दो दिनों में उन्होंने खूब मस्ती की और जैसा कि एक किशोरी ने कहा भी – आप ऐसे ही हमें बार बार कुछ दिनों के लिए बुलाते रहना ताकि हम मस्ती के साथ-साथ दुनिया भी देख सकें.

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s