मेरा क्या है?


रसोई भी मेरी, मेहनत भी मेरी, 
समय भी मेरा, जले हाथ भी मेरे, 
पर खाने की पसंद किसी और की |


गीत भी मेरा, आवाज भी मेरी,
बचपन भी मेरा, जवानी भी मेरी,
पर इन गीतों में बात किसी और की |


खून भी मेरा, ताकत भी मेरी,
कोख भी मेरी, दर्द भी मेरा,
पर जन्मे बच्चे का नाम किसी और का |


भूख भी मेरी , प्यास भी मेरी ,
व्रत भी मेरा, रिवाज भी मेरा ,
पर सभी व्रतों – रिवाजों में नाम किसी और का |

दिल भी मेरा, चाहत भी मेरी ,
पर मैं बनी पहचान किसी और की |


शरीर भी मेरा जुबान भी मेरी ,
पर मैं बनी इज्जत किसी और की |


घर के हर ईंट – पत्थरों में, 
खून – कमाई भी मेरी,   
सपने भी मेरे, साथ भी मेरा,
पर मकान पर नाम किसी और का |


माँ – बाप के सुख – दुःख मेरे,
प्यार भी मेरा, लड़ाई भी मेरी, 
पर उनकी अंतिम यात्रा पर, 
कन्धा किसी और का |

प्रार्थना 

3 thoughts on “मेरा क्या है?

  1. Mahesh kumar says:

    शानदार ज़रूरी और ज़बरदस्त सवाल जिनका जवाब सिर्फ़ बराबरी और हक़ में ही छिपा है …

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s